दिल है हिंदुस्तानी

On the merit

#CAA और #NRC का समर्थन करने वालों पर शांति भंग करने का आरोप लगाना तुक्ष मानसिकता को दर्शाता है।और एक बात अर्थव्यवस्था का रोना ग्राफ़ के साथ लेकर यहां न आएं…लुढ़कती GDP की चिंता है तो उसकी अलग रैली निकालें तथाकथित बुद्धिजीवीगण!
बढ़ी फ़ीस से परेशानी है तो उसकी अलग रैली निकालें JNU वाले बूढ़े बच्चे!
कश्मीर चाहिए या पाकिस्तान उसकी अलग रैली निकालिए मुल्ला जी!वोट बैंक जुटाना है तो भीड़ कहीं और जुटाइये नेता जी!ये हर मुद्दे को मिलाकर खिचड़ी पकाकर विरोध जताना न तुम्हारी कमजोरी बल्कि शातिरता और दुष्टपने को दर्शाता है.


©® कुसुम गोस्वामी