दिल है हिंदुस्तानी

बात कड़वी पर सच्ची है

दर्द था पुराना, ज़ख्म थे गहरे,
फिर भी कुछ अंधे बने रहे कुछ बहरे,
फिर मोदी नाम की एक दवा आई
पहली बार आज़ाद हिंद में… आज़ादी की हवा आई!
 
जब समय मिले इसे ज़रूर देखेंक्योंकि आपका जागना ज़रूरी है तभी  समाज को जगा पाएंगे
https://youtu.be/E9DcOAWPIQQ

Skip to toolbar