दिल्लगी

फुर्सत के लम्हे

दिन है २४ घंटे के
काम है ४८ घंटे के !

भागम -भाग भरी जिंदगी में
फुर्सत के लम्हे, मिलते है मुश्किल से !

कुसुम गोस्वामी ‘किम’

(चित्र सौजन्य: इंटरनेट)

2 thoughts on “फुर्सत के लम्हे”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.