दिल है हिंदुस्तानी

दिल के अरमां

दिल के अरमां CAA विरोध में झलक गए
सांप जितने थे वे बिल से निकल गए
दिल के अरमां…
करते थे मीठी मीठी बातें मगर
जहर के प्याले बौखलाहट में छलक गए
दिल के अरमां…
बहुत कोशिश की समझाने की मगर
दोगले तो दोगले ही रह गए
दिल के अरमां…
पाकिस्तान-बांग्लादेश ले लिया मगर
गजवा-ए-हिन्द के ख्वाब पनपते रह गए
दिल के अरमां…
CAA, NRC एक बहाना है मगर
बात असली ये दबाकर रह गए
दिल के अरमां...
हम कहते थे तो सबने माना नहीं मगर
सुलह कराने वाले भी अब ये समझ गए
दिल के अरमां CAA विरोध में झलक गए…
©® कुसुम गोस्वामी
(चित्र सौजन्य: इंटरनेट)